Karwa Chauth 2020 Puja Time

            Karwa Chauth 2020 : इस बार करवा चौथ पर शुभ संयोग



करवा चौथ का व्रत 2020

करवा चौथ का व्रत 2020 : Married Women  का पति की लंबी Ages  की  Kaamna Ke Liye  Rakha Jana Mahaparv Karwa Chauth  इस बार कई अच्छे संयोग में आ रहा है। क्योंकि इस बार 70 साल बाद ऐसा योग बन रहा है. इस दिन रोहिणी नक्षत्र और मंगल का योग एक साथ आ रहा है  इस बार जहां Karwa Chauth पर सर्वार्थ सिद्धि योग  बन रहा है, वहीं Shivyog , बुधादित्य Yog , सप्तकीर्ति, महादीर्घायु और सौख्य योग का भी निर्माण हो रहा है।

 व्रत करने वाली महिलाओं को पूजन का फल हजारों गुना अधिक मिलेगा  ये सभी Yog  बहुत ही Important  हैं और इस Day की महत्ता और भी बढ़ाते हैं। Khas Tor Par Suhagino Ke Liye यह Karwa Chauth   अखंड सौभाग्य देने वाला होगा। इस बार Karwa Chauth कथा और पूजन का शुभ मुहूर्त  5:34 बजे से शाम 6:52 बजे तक है


करवा चौथ के दिन बनने वाला शुभ योग

Karwa Chauth  पर रोहिणी नक्षत्र का संयोग होना अपने आप में एक अद्भुत योग है. Karwa Chauth  बुधवार  के दिन होने से इसका महत्व और बढ़ गया है. Chandrama Me Rohini ka Yog hone se  मार्कण्डेय और सत्यभामा योग बन रहा है. यह योग चंदमा की 27 पत्नियों में सबसे प्रिय पत्नी रोहिणी के साथ होने से बन रहा है. It Will Be Very Fruitful For The Honeymooners Who Fast For Their Husband .

Such Yoga Was Also Formed During The Union Of Lord Krishna and  Satyabhama.. यह योग न केवल कुछ ही समय के लिए बल्कि पूरे दिन के लिए बन रहा है, जिसमें Karwa Chauth   का व्रत रखने पर Women Will Get Many Times The Benefit Of Their Fast. Sarvartha Siddhi Yog शुभ योगों में से Ek Mana Jata He . इस योग में किया गया कोई भी  The Work Is Successful And Also With That Work  का कई गुना लाभ भी प्राप्त होता है

Karwa Chauth पर कौन से बन रहे हैं योग

Karwa Chauth  के दिन इस बार चंद्रोदय रात 8 : 16 मिनट पर होगा, In Which You Can Complete Your Karwa Chauth Fast By Offering The Moon.. There will be Sun planets along with Mercury on Karva Chauth, who are making Budhaditya Yoga. । इस दिन Sarvaarthasiddhi, Saptakirti, Mahadarigayhu and Soukhya Yoga along with Shivayoga  पंचांग के अनुसार इस दिन चतुर्थी तिथि का प्रारंभ 4 November  2020 की सुबह 4: 24 मिनट पर होगा और चतुर्थी तिथि की समाप्ति अगले दिन 5 November 2020 को सुबह 6 :14 मिनट पर होगी.



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

यह ब्लॉग खोजें

Blog Archive

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *